obesity

मोटापा और बीमारिया

मोटापा और इससे जुड़े हुए हैं यह सारे बीमारिया

हेलो, दोस्तों. आप लोगों को पता है के, आज के दुनिया मे मोटा होना एक बड़ी प्राब्लम है. और कुछ लोगों के लिए तो यह बहुत ही बड़ी प्राब्लम है. लेकिन यह मोटापा आख़िर होता क्या है? यह शायद सभी को पता होगा. लेकिन किसिको पूरी ठीक तरह से पता नही होगा. कुछ लोग मोटा होने के बावजुट स्वीकार नही करते हैं, – ज़्यादातर लड़को मैं ऐसा देखा जाता हैं. और ज़्यादातर लड़कियाँ अपने आप को मोटी समझ लेती हैं – जो वो होते नही. तो आइए, जान लेते हैं के यह मोटापा असल मैं होता क्या हैं!
पूरे दुनिया मे करीब 60 क्रोरे से ज़्यादा अडल्ट्स इस समस्या से जूझ रहे हैं. मोटापा होता हैं के अन्नॅचुरल या ज़्यादा चर्बी यानी फट के बढ़ने से. और इस चर्बी बढ़ने के चलते आपके शरीर यानी हेल्त मे आता हैं काई सारी समस्याएँ. जो आपकी तबीयत के लिए काई सारी मुश्किलें खड़ी कर सकते हैं. यह आपके आक्ची हेल्त को खराब कर सकते हैं. आपके लुक्स के लिए भी बहुत बुरा होता हैं. थोड़ी सी चर्बी यानी फट अच्छा होता हैं, लेकिन ज़रूरत से ज़्यादा – सिर्फ़ मुश्किले.

जो एक वक़्त आपका धन और समृद्धि को दर्शाता था, वो आज एक तरह का बीमारी हैं. जी हा, २०१३ मे अमरीकी हेल्त असोसियेशन ने मोटापा को बीमारी का नाम दिया हैं. और मोटापे का एक वैज्ञानिक व्याख्या भी हैं.

मोटापा तय किया जाता हैं बॉडी मास इंडेक्स यानी ब्मी से. इसका फ़ॉर्मूला हैं किसी इंसान के पूरा वेट (क्ग.) को उनके शरीर के कुल उचई (हाइट) जो बर्ग मीटर (स्क्वेर मीटर) से डेवीदे करके (क्ग/म2). तो हम यहाँ नीचे एक चार्ट दे रहे हैं जो आपको दिखाएँगे के हाइट ओर वेट के साथ कैसी संबंध आपको मोटा बताता हैं.

उचाई और वज़न के हिसाब - आदमी और औरत

HeightFemaleMale
InchCmLbsKgs.LbsKgs.
4’ 6”13763 – 7728.5 – 34.963-7728.5 – 34.9
4’ 7”14068 – 8330.8 – 37.668 – 8430.8 – 38.1
4′ 8″14272 – 8832.6 – 39.974 – 9033.5 – 40.8
4’ 9”14577 – 9434.9 – 42.679 – 9735.8 – 43.9
4’ 10”14781 – 9936.4 – 44.985 – 10338.5 – 46.7
4’ 11”15086 – 10539 – 47.690 – 11040.8 – 49.9
5’ 0”15290 – 11040.8 – 49.995 – 11743.1 – 53
5’ 1”15595 – 11643.1 – 52.6101 – 12345.8 – 55.8
5’ 2”15799 – 12144.9 – 54.9106 – 13048.1 – 58.9
5’ 3“160104 – 12747.2 – 57.6112 – 13650.8 – 61.6
5’ 4”163108 – 13249 – 59.9117 – 14353 – 64.8
5’ 5”165113 – 13851.2 – 62.6122 – 15055.3 – 68
5’ 6”168117 – 14353 – 64.8128 – 15658 – 70.7
5’ 7”170122 – 14955.3 – 67.6133 – 16360.3 – 73.9
5’ 8”173126 – 15457.1 – 69.8139 – 16963 – 76.6
5’ 9”175131 – 16059.4 – 72.6144 – 17665.3 – 79.8
5’ 10”178135 – 16561.2 – 74.8149 – 18367.6 – 83
5’ 11”180140 – 17163.5 – 77.5155 – 18970.3 – 85.7
6’ 0”183144 – 17665.3 – 79.8160 – 19672.6 – 88.9
6’ 1”185149 – 18267.6 – 82.5166 – 20275.3 – 91.6
6’ 2”188153 – 18769.4 – 84.8171 – 20977.5 – 94.8
6’ 3”191158 – 19371.6 – 87.5176 – 21679.8 – 98
6’ 4”193162 – 19873.5 – 89.8182 – 22282.5 – 100.6
6’ 5”195167 – 20475.7 92.5187 – 22984.8 – 103.8
6’ 6”198171 – 20977.5 – 94.8193 – 23587.5 – 106.5
6’ 7”201176 – 21579.8 – 97 .5198 – 24289.8 – 109.7
6’ 8”206180 – 22081.6 – 99.8203 – 24992 – 112.9
6’ 9”205185 – 22683.9 – 102.5209 – 25594.8 – 115.6
6’ 10208189 – 23185.7 – 104.8214 – 21697 – 118.8
6’ 11”210194 – 23788 – 107.5220 – 26899.8 – 121.5
7’ 0”213198 – 24289.8 109.7225 – 275102 – 124.7

तो आपने देखा के उचाई के साथ वज़न का कैसा संबंध हमारे मोटापा को दर्शाता हैं. यह तो गया मोटापा होता क्या हैं. लेकिन आपको यह भी पता होना चाहिए के मोटा होने के साथ क्या क्या बीमारी हुमको छू सकते हैं. जी हन, मोटा होना रिस्की तो हैं. लेकिन क्या क्या रिस्क हैं?

शारीरिक समस्याएँ और मोटापा

दिल की बीमारी और हाइ ब्लड प्रेशर

पहले जो बीमारी हमे टेंशन देगा वो हैं दिल की बीमारी. असल मे ज़्यादा वेट ब्लड प्रेशर और कोलेस्टरॉल को बढ़ता हैं. और यह दोनो हुमारे दिल यानी हार्ट के लिए बहुत अच्छा नही होता. लेकिन खुशी की बात यह हैं के थोड़ी सी मोटापा घतके हम इससे बच सकते हैं.

पित्ताशय मे पत्थर

गॉलब्लॅडरर स्टोन यानी पित्ताशय मे पत्थर होने के वजह इस मोटापे से हो सकता हैं. लेकिन मोटापा इसकी सीधा कारण नही होती हैं. अगर आप बहुत जल्दी पतला होना चाहते होंगे, बहुत सारी चर्बी घतके, तो आपको यह बीमारी पकड़ सकता हैं. अगर आप एक हफ्ते मैं ज़्यादातर ४००-५०० ग्राम वजन घटा रहे हो, तो इस बीमारी के ख़तरे कम होंगे.

ऑस्टियोवार्त्राइटिस

ज़्यादा वजन के वजह से हमारे कमर, घुटने और भी कयि तरह के जोड़ो और उपस्ती मे प्रेशर बढ़ता हैं. मोटापा इस तरह के बीमारी की संभाबनाओ को ज़यादा बढ़ा सकते हैं. लेकिन आप अपनी वजन कम करके इस बीमारी के रिस्क भी कम कर सकते हो.

टाइप २ मधुमेह

इस तरह के डाइयबिटीस बहुत ही आम होते हैं. ज़्यादा तरह के मोटे लोगों को इस तरह के डाइयबिटीस होते हैं. लड़कियो से ज़्यादा लड़को को इस बीमारी होने के संभाबाना हैं. एक रिसर्च मैं देखा गया हैं के हर 3 अडल्ट्स मे 1 को इस तरह के डाइयबिटीस होने के चान्स हैं. इसका रिस्क उमर बढ़ने के साथ बढ़ता हैं. लेकिन डाइयेट कंट्रोल ओर एक्षसेरसीएस के द्वारा, इस तारक के प्राब्लम से मुक्ति मिल सकते हैं.

कई तरह के कैंसर

जानकारों की माने, तो काई तरह के कॅन्सर मोटापा के वजह से हो सकते हैं. जयसए पेट का, स्तन का, किड्नी और पिछवारा कॅन्सर के लिए मोटापा एक बड़ी कारण हो सकते हैं.

गठिया

गाउट यानी गठिया एक ऐसी बीमारी हैं जो खून और उत्तको मैं यूवरिक आसिड की मात्रा बढ़ जाने के वजह से हो सकता हैं. इस तरह की बीमारी भी मोटे लोगो मैं साधारण हैं. अचानक वजन बढ़ जाना इस बीमारी को बुला सकता हैं.

नींद की बीमारी

स्लीप अपनेआ एक तरह की बीमारी होती हैं जो मोटापे के वजह से हो सकते हैं. इस बीमारी की वजह से इंसान सोते वक़्त ज़ोर की खरते लेता हैं और कभी सांस लेना बाँध भी हो सकता हैं. मोटापा इस बीमारी की एक कारण हो सकता हैं, लेकिन एकमत्रा कारण नही झोता.

फॅटी लीवर बीमारी

यह बीमारी भी मोटापे के वजह से हो सकता हैं. लेकिन आप डाइयेट चेंज करके और कम कॅलरी इनटेक के ज़रिए इस रिस्क को कम कर सकते हैं.

किडनी की बीमारी

हाइ ब्लड प्रेशर और मधुमेह के वजह से किड्नी मे समस्या हो सकता हैं. इसलिए गुर्दे के रोग मोटापे के वजह हो सकता हैं.

तो यह सब बीमारी आपको झेलने पढ़ सकता हैं मोटापा के वजह से. लेकिन ख़ुशी की बात यह है के आप आसानी से इस मोटापे को काम कर सकते हैं. आगर आप जाना चाहते हैं के इस मोटापा को कायेसे दूर करे तो आगे पढ़े.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *